Tuesday, February 7, 2023
HomeShare MarketShare Market क्या है आसान भाषा में समझे ?

Share Market क्या है आसान भाषा में समझे ?

अगर आप नए भी है आपको बिलकुल नॉलेज नहीं है तो आज बगगिनर्स के लिए भी शेयर मार्किट के बारे में बड़ी कमाल की बाते जानने वाले है अगर नए भी है तो आपको बिलकुल अच्छा लगेगा आपको जानना चाहिए ऐसे जानकारी साधारण और सरल भाषा में की शेयर मार्किट काम कैसे करती है।

शेयर मार्किट को सभी जुवे और सट्टे की तरह से देखते है और कुछ लोग ऐसा सोच कर पैसा शेयर मार्किट में लगा देते है और अपना पैसा गवा देते है अगर आप शेयर मार्केट को पूरी तरह से समझ कर इसमें invest करते हो तो आप अच्छाखासा पैसा कमा सकते हो और आप बादशाह भी बन सकते हो।

क्या आपको पता है, ऐसी कौन सी जगह है की जहाँ अपने पैसे दाव पर लगाने के बाद भी लोगों को मुनाफा होता है? वो जगह है share market याने के शेयर बाज़ार,शेयर बाजार के बारे में सभी ने सुना होगा मगर वहां कैसा क्या करना होता है जिससे हमे भी उससे लाभ हो इसका ज्ञान सभी को नहीं है। इसलिए आज आपको शेयर मार्केट क्या होता है इसलिए आज हमने ब्लॉग बनाया है की Share Market क्या है hindi में आइये जानते है।

Share Market क्या है? हिंदी में जाने

Share Market एक ऐसा market है जहाँ बहुत से कम्पनीज के शेयर्स ख़रीदे और बेचे जाते हैं,ये एक ऐसी जगह है जहाँ कुछ लोग या तो बहुत पैसे कमा लेते हैं या तो अपने सारे पैसे गवा देते हैं सीधा सा फंडा यही है की जिसे पूर्ण रूप से शेयर मार्केट की जानकारी नहीं होती है वो गवायेगा ही अगर आप इस मार्केट को पूरी तरह से समझ के इसमें पैसा इन्वेस्ट करते हो तो आप को बादशाह बनने से कोई नहीं रोक सकता है आप किसी कंपनी का share खरीदने का मतलब है उसकी कंपनी में हिस्सेदार बन जाना।

आप किसी कंपनी में चाहे जितने पैसे लगायेंगे उसी के हिसाब से कुछ प्रतिशत के मालिक आप उस कंपनी के हो जाते हैं. जिसका मतलब ये है की अगर उस कंपनी को भविष्य में मुनाफा अथवा profit होगा तो आपके लगाये हुए दुगना के रूप में पैसे आपको मिलेगा और अगर घाटा हुआ तो नार्मल सी बात है की आपको एक भी पैसे नहीं मिलेंगे यानि की आपको पूरी तरह से नुकसान होगा तो अगर आप इसमें पैसे इन्वेस्ट करना चाहते होतो सम्पूर्ण ज्ञान लेके ही चालू करे।

आधुनिक टेक्नोलॉजी बढ़ते हुए अब आप घर बैठे सारे मार्केट का ज्ञान अथवा क्या अवस्था चल रही है वो देख सकते है।

शेयर मार्केट में शेयर्स कब ख़रीदे?

आपको अभी तक ये पता चल गया होगा की शेयर मार्केट क्या है,तो चलिए अब देखते है की How to invest in share market हिंदी में शेयर मार्केट में शेयर खरीदने से पहले सपूर्ण ज्ञान की बहुत ही आवश्यक्ता होती है। कौन सी कंपनी का शेयर बढ़ा या घटा इसकी जानकारी का पता लगाना है तो आप newspaper पढ़ सकते हैं या फिर बिज़नेस से रिलेटेड न्यूज़ चैनल उन्हें भी देख सकते जिससे आप प्रेडिक्शन अथवा अनुमान लगा सकते हो की शेयर मार्केट में चढ़ाव हो रहा है की मार्केट नीचे गिर रहा है।

ये मार्केट जोखिम से भरा है अगर आपकी आर्थिक स्थिति ठीक हो तभी आप इसमें पैसे invest करना जिससे अगर आपको घाटा या हानि होतो भी आपको उस हानि से ज्यादा फ़र्क न पड़े,आप शुरुआत में थोड़े थोड़े पैसे निवेश करके भी चालू कर सकते हो जिससे आगे एके नुकसान होतो भी आप उसे झेल सको। जैसे आपकी knowedge,experience और sklls बढ़ जाये तो आप धीरे धीरे पैसे बढ़ा कर निवेश कर सकते है ।

शेयर मार्केट में पैसे कैसे लगाएं?

पहला तरीका

Share market kya hai के बारे में जानने के साथ-साथ आपको ऐसी बहुत सी चीज़ों का ध्यान रखने की आवश्यक्ता होती है,शेयर मार्केट में शेयर्स खरीदने के लिए पहला चरण यह है की आपको एक डीमैट अकॉउंट बनाना पड़ता है।

आप किसी भी एक ब्रोकर के पास जाकर एक डीमेट अकॉउंट खोल सकते हैं। मूल रूप से डीमेट अकॉउंट में हमारे शेयर के पैसे रखे जाते हैं। अगर आप शेयर मार्केट में निवेश कर रहे हैं तो आपका डीमेट अकॉउंट होना अत्यधिक ज़रूरी है।

जैसे हम पैसे को सुरक्षित रखने के लिए बैंक में पैसो को जमा करते है वैसे ही शेयर मार्केट के पैसो को रखने के लिए हमे डीमेट अकाउंट की जरुरत पड़ती है और आप डीमेट अकाउंट के पैसे बाद में सेविंग अकाउंट ट्रांसफर कर सकते है।

दूसरा तरीका

हालांकि आप किसी भी बैंक में जाकर अपना डीमेट अकॉउंट खुलवा सकते हैं। लेकिन अगर आप एक ब्रोकर द्वारा अपना अकाउंट खुलवाएंगे तो आपको उसके benefist जो है वो ज्यादा होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि आपको ब्रोकर से अच्छा समर्थन मिलेगा और दूसरा आपके निवेश के हिसाब से ही वो आपको अच्छी कंपनी सजेस्ट करते हैं जहाँ आप अपने पैसे निवेश कर सकते है।

Support Level क्या होता है?

सपोर्ट लेवल किसी चार्ट पर वो कीमत होती है जैसे अभी टेक्नोलॉजी में बढ़ोत्तरी होने से आप घर से ही देख सकते है। जहां कारोबारी स्टॉक में अधिकतम मांग की उम्मीद करता है। जब भी कीमत सपोर्ट लेवल तक गिरती है, तो वापस उछाल की संभावना होती है क्योंकि उस कीमत पर खरीद आने की उम्मीद रहती है। सपोर्ट हमेशा मौजूदा बाजार कीमत (Currect Market Price) से नीचे होता है।

Resistance Level क्या होता है?

रेजिस्टेंस शब्द का हिंदी में मतलब है- रुकावट, रोक या बाधा। तो इसके आधार पर हम कह सकते हैं कि रेजिस्टेंस, कीमत बढ़ने या ऊपर जाने से रोकता है। शेयर बाज़ार में रेजिस्टेस शंब्द का इस्तेमाल किसी स्टॉक के चार्ट पर उस प्राइस प्वाइंट को बताने के लिए किया जाता है, जिस प्राइस प्वाइंट से स्टॉक की कीमत ऊपर जाने से रुकती है। इस प्राइस प्वाइंट पर ट्रेडर्स स्टॉक की अधिकतम आपूर्ति यानी मैक्सिमम सप्लाई की उम्मीद करते हैं। रेजिस्टेंस लेवल हमेशा स्टॉक के अभी की कीमत यानी Current Market Price (CMP) से ऊपर होता है।

Support और Resistance Level में अंतर

support और resistance किसी स्टॉक के चार्ट में, दो अलग अलग प्राइज़ पॉइंट्स होते है। जिनके विषय में जानना बहुत ही ज़रूरी होता है। Share Market Kya Hai जानने के साथ-साथ चलिए जानते हैं इन दोनों में अंतर।

Support Level कैलक्युलेशन्स समझे

अब सपोर्ट प्राइज़ के बारे में जान लेते हैं। सपोर्ट प्राइज़ चार्ट का वो प्राइज़ पॉइंट होता है, जहाँ से आगे विक्रेता के मुकाबले खरीदार की संख्या ज़्यादा होने की सम्भावना होती है, और इसलिए स्टॉक प्राइस support price पॉइंट से ऊपर की तरफ चढ़ने की संभावना होती है। वहीँ resistance price चार्ट का वो प्राइज़ पॉइंट होता है, जहाँ से आगे खरीदार के मुकाबले विक्रेता की संख्या ज्यादा होने की सम्भावना होती है, और इसलिए स्टॉक प्राइज़ रेज़िस्टेंस प्राइज़ पॉइंट से नीचे की तरफ गिरने की संभावना होती है।

शेयर मार्केट डाउन होने का कारण

  • अगर कोई भी बड़ी घटना से शेयर मार्केट डाउन होने के संभावना बढ़ जाते हैं। 2020 के शुरू में ही कोरोना वायरस के आने से देश विदेश जहा तक हर चीज़ में ही काफी बड़ा बदलाव देखनें को मिला है,जिससे consumer behavior में भी बड़ा बदलाव देखने को मिला है,आप अनुमान लगा सकते है की इससे दुनिया के लगभग सभी बिज़नेस को काफ़ी नुकसान पहुंचा है, ऐसे में लोग short-term earnings के लिए अपने स्टॉक्स को बेच देते हैं। इससे शेयर मार्केट डाउन हो जाती है बड़ा उतार चढ़ाव देखने को मिलता है।
  • foreign institutional investor,इस ग्लोबल रिस्क एवर्जन के दौरान मुख्य तौर पर Exchange Traded Fund (ETF) के द्वारा बिक्री की जाती है इससे शेयर मार्केट में काफी गिरावट देखने को मिलती है। आंकड़ों के अनुसार मार्च 2021 में कोरोना काल के चलते लगभग INR 25,000 करोड़ के स्टॉक्स को भय के कारण बेच दिया गया था ।
  • अगर कोई कंपनी listing agreement से जुड़ी शर्त का पालन नहीं करती है, तो उसे Securities and Exchange Board of India(SEBI) BSE/NSE से delist कर देती है।

Sunsex क्या होता है ?

Sunsex BSE का मतलब Stock Exchange Sensitive Index जो हमारे भारतीय stock market का बेंचमार्क index है जिसकी शुरुआत 1 जनवरी 1986 में हुई थी। यह Bombay Stock Exchange(BSE) में लिस्टेड शेयर्स के भाव में होने वाली तेज़ी और मंदी को भी बताता है। सेंसेक्स के ज़रिए ही हम इसमें लिस्टेड अंडर 30 सबसे बड़ी कंपनियों के प्रदर्शन की जानकारी को प्राप्त कर सकते है।

NIFTY50 क्या होता है?

National Stock Exchange Fifty (NIFTY) , NIFTY है जो वो २ शब्दो से मिलकर बना हुआ है नेशनल और फिफ्टी । इसको NIFTY 50 भी कहा जाता है। NIFTY, नैशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया का एक महत्वपूर्ण बेंचमार्क है। यह NSE में लिस्टेड 50 प्रमुख शेयर्स का इंडेक्स होता है। मुख्य रूप से NIFTY देश की 50 प्रमुख कंपनियों के शेयरों पर नज़र रखता है और इसमें सिर्फ वही 50 कंपनी के शेयरों को देखा जा सकता है जो लिस्टेड होती हैं। जिसे आप अब मोबाइल में घर बैठे सबकी की जानकारी को प्राप्त कर सकते है।

शेयर मार्किट में आखिर शुरुआत कैसे करे ?

दुनिया में सभी लोग यही सोचते है की यार जल्दी से जल्दी हाथ में बस पैसे आये और अमीर बनने का शौक रखते है। इसलिए वो कुछ इसी तलाश में रहते है की कैसे आसान से आसान तरीके से पैसे आये जो की उन्हें कम समय में अमीर बना दें और साथ ही अपनी जरुरत को पूरा कर सकते और उनके जीवन परिवार के लिए ढेर सारी खुशियाँ लाये।

सर्प्रथम सब चीज़ो को अच्छी तरीके से सीखे तभी निवेश करे।

दुनिया में कोई भी चीज़ हो उसे तब तक नहीं करना चाहिए जब तक आप उसे अच्छी तरीके से सीख अथवा जान नहीं जाते। उसके बाद ही आप उसमे हाथ आजमाए।

सीधी बात है की अगर अपने पास skills और experience रखते है तो वो definetly काम में आने वाली है क्युकी शेयर मार्केट में कुछ ऐसी भी चीज़े है जिसमे आपकी स्किल का होना बहुत ज्यादा ही जरुरी है।

ज्यादा से ज्यादा रिसर्च करे।

आप जितना अपने फील्ड के बारे में सोचोगे और रिसर्च करोगे तो उससे आपकी skills और experience जिसे अगर आपकी नॉलेज अछि खासी हो जाती है तो आपको शेयर मार्केट का बादशाह बनने से कोई नहीं रोक सकता है क्योंकि ये रिसर्च और ज्ञान ही है जो की आपको यहाँ की बारीकियों के बारे में एक्सपर्ट बना सकता है। अगर आपको मदद के रूप में चाहिए तो आज कल बहुत से T.V. Channels और खास कर Youtube Channels के साथ साथ ऑनलाइन कई मार्केट एक्सपर्ट्स मिल जाएंगे जो कि आपको शेयर्स की knowledge देने में मददगार साबित हो सकते है।

Long term goal रखे।

यह बात बहुत ही ज्यादा अच्छी तरह से जान लें कि जो investment है ना किसी भी प्रकार की हो ये माना गया है कि सभी investment में से long term investment आपको सबसे बेहतर परिणाम प्रदान करने में सक्षम साबित हो सकती है। ऐसे में आप भी अगर शेयर मार्केट में investment करना है तो उसे long term मानकर ही निवेश करें तभी आपको इसमें मुनाफ़ा मिलने की संभावना मिल सकती है,और लगाकर बार भूल जाईये उसे बार बार विचार करने से अच्छा।

धैर्य रखना सीखे।

शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले सर्वप्रथम आपको emotion को control करना सीखना होगा तभी कही जाकर आप एक अच्छे investor बन सकते हैं. और आप पैसे उतने ही लगाए अगर आपको नुकसान होतो भी आपको उससे कोई फर्क ना पड़े।

Inversment करते समय कम्पनीज पर ध्यान दे।

आप कभी भी किसी दोस्त या जानने वाले के कहने या बहकावे में आकर निवेश मत करना आपने द्वारा प्राप्त ज्ञान का उपयोग करके ही करे । याद रहे आपको हमेशा उन कंपनीज़ के शेयर्स में invest करना चाहिए जिसके कार्य करने की प्रक्रिया को आप समझते हैं और भरोसा करते हैं। इसके अलावा पिछले सालों के graph को जांचना भी आवश्यक हो सकता है जिससे आपको उस कंपनी के घाटे और मुनाफे की जानकारी हो जायेगा।

FAQs ( पूछे जाने वाले प्रश्न )

क्या शेयर मार्किट जुआ होता है?

जी बिलकुल भी नहीं। शेयर मार्केट जुआ नहीं होता है। यह एक सोची समझी मार्केट होती है जो की गणित के आधार पर चलती है। अगर आप मार्केट की जानकारी अच्छे से प्राप्त करके करे तो आपको जल्दी घटा नहीं हो सकता लेकिन हाँ यदि आपको शेयर मार्किट के बारे में कुछ भी नहीं पता तब आपको इसमें काफ़ी ज़्यादा घाटा हो सकता है।

शेयर मार्केट में कम से कम कितना पैसा लगा सकते है?

जैसे आप एक दिन में 100 रुपये से 10,000 रुपये और उससे भी जितनी आपकी सीमा हो तो उतनी भी रकम लगा सकते हैं। लेकिन यह आपके जोखिम लेने पर निर्भर करता है। ज्यादा risk होने के कारण यह ज़रूरी है कि आप अपनी आर्थिक स्थिति के अनुसार ही invest करें।

आज आपने क्या सीखा?

मुझे आपसे उम्मीद है की आपको मेरा ये शेयर मार्केट blog की share market क्या है (What is Share Market in Hindi) मै आपसे आशा करता हु की आपको ये ब्लॉग जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की मेरा ब्लॉग के reader को शेयर बाज़ार के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे websites में उस article के विषय में खोजने की जरुरत ही नहीं है. इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी जानकारी भी मिल जाएगी।

अगर आपको और कोई प्रश्न हो तो आप comment में पूछ सकते हो।

Share Market क्या है? इस वीडियो से समझे

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments